सुकन्या समृद्धि योजना 2021: Sukanya Samriddhi Yojana

प्रधानमंत्री सुकन्या समृद्धि योजना (पीएमएसएसवाई) में रोज 131 रूपये निवेश करने पर बेटी को मिलेंगे 20 लाख रूपये। बेटी की एक वर्ष की आयु में पोस्ट ऑफिस की योजना में रोज 131 रुपये निवेश करने पर मिलेंगें 20 लाख रुपये। बेटी के लिए सरकार की तरफ से एक छोटी से निवेश योजना है जो पोस्ट ऑफिस में खाता खोलने पर निवेश करना शुरू कर सकते है।

भारत में बालिकाओं के बेहतर भविष्य के लिए एक योजना शुरू की गई है। प्रधान मंत्री सुकन्या समृद्धि योजना 22 जनवरी 2015 को प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा शुरू की गई। सुकन्या समृद्धि योजना (बेटी पढ़ाओ बेटी बचाओ) अभियान का हिस्सा है।

Sukanya Samriddhi Yojana Ki Puri Jankari

इस योजना की मुख्य विशेषताएं-

  • माता-पिता या अभिभावक एक बालिका के लिए एक बैंक खाता खोल सकते हैं।
  • इस योजना में माता-पिता 2 खाते खोलते हैं। क्योंकि जुड़वां बच्चों के मामले में और दोनों बालिकाएं हैं इसलिए इस योजना के लिए अनुमति है।
  • यह योजना कानूनी अभिभावक के लिए भी अनुमति देती है (जब जोड़े को बच्चे के जैविक माता-पिता द्वारा अदालत द्वारा नियुक्त किया जाता है कि इसे कानूनी अभिभावक कहा जाता है)
  • बालिकाओं के लिए बैंक खाता खोलने के लिए 10 वर्ष की आयु आवश्यक है।
  • बालिकाएं 18 वर्ष की आयु के अपने खाते में बचत कर सकती हैं और इस बार वह अपनी पढ़ाई के लिए केवल 50% राशि ही निकाल सकती हैं।
  • 21 साल की उम्र में लड़की की शादी की पूरी रकम।
  • माता-पिता या अभिभावक इस योजना में डाकघर की शाखाओं और सार्वजनिक और निजी बैंक के माध्यम से निवेश कर सकते हैं। और आपको कुछ दस्तावेज जैसे पासपोर्ट, आधार कार्ड आदि जमा करने होंगे।
  • इस योजना का आवेदन फॉर्म कुछ स्रोतों से डाउनलोड किया जा सकता है जैसे – आरबीआई (भारतीय रिजर्व बैंक), सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक (भारतीय स्टेट बैंक, पंजाब नेशनल बैंक, बैंक ऑफ बड़ौदा), निजी क्षेत्र के बैंक (आईसीआईसीआई बैंक, एक्सिस बैंक और एचडीएफसी बैंक) आदि।
  • यह राशि 14 साल के लिए जमा करनी होगी।
  • प्रति वर्ष जमा की जाने वाली न्यूनतम राशि रु. 1000 और अधिकतम राशि रु। 1,50,000।
  • इस योजना में हर साल ब्याज दरों में बदलाव किया जाता है और सरकार द्वारा तय किया जाता है। वर्तमान समय में ब्याज दर आईडी 8.6% है।
  • जब उस स्थिति में बालिका की मृत्यु हो जाती है तो खाता बंद कर दिया जाता है।
  • इस योजना में लड़की की शादी 21 वर्ष की आयु में होने पर खाते को बंद किया जा सकता है।
  • यदि माता-पिता या अभिभावक वर्ष के प्रीमियम का भुगतान करने में विफल रहते हैं तो यह खाता बंद कर दिया जाता है।
  • यह योजना भारत में पैदा हुई लड़कियों के लिए हैं।
  • यह योजना इलेक्ट्रॉनिक हस्तांतरणीयता की सुविधा भी प्रदान करती है।
  • बालिका जन्म प्रमाण पत्र और फोटो पहचान प्रमाण (आधार कार्ड या मतदाता पहचान पत्र) के लिए बैंक खाता खोलने के लिए दस्तावेजों की आवश्यकता होती है।
  • इस योजना में ब्याज दर 9.1% थी, लेकिन अब इसे घटाकर 7.6% कर दिया गया है।
  • इस योजना में न्यूनतम रुपये 1000 और अधिकतम 1,50,000 प्रति वर्ष जमा किया जा सकता है।
  • सुकन्या समृद्धि योजना की ब्याज दर सरकार द्वारा तय की जाती है।
Sukanya Samriddhi Yojana 2021 Ki Puri Jankari
Sukanya Samriddhi Yojana 2021 Ki Puri Jankari

Sukanya Samriddhi Yojana Ke Fayde

सुकन्या समृद्धि खाते के लिए लाभ:-

  • ब्याज की उच्च दर।
  • पैसे की बचत या टैक्स।
  • आसानी से हस्तांतरणीय।
  • संचालन की अनुमति।
  • छोटी राशि जमा करना।
  • भुगतान सीधे उम्मीदवार को किया जाता है।
  • गोद ली हुई लड़की का हिसाब देने दें।
  • लंबी अवधि का निवेश।
  • बालिकाओं के शैक्षिक खर्चों को बचाने में मदद करें।
  • आपको 15 साल के लिए जमा करना होगा।

Atal Pension Yojana, अटल पेंशन योजना की पूरी जानकारी

Best Investment Plan With High Returns in Hindi

List of Government Investment Schemes in Hindi

Sukanya Samriddhi Yojana Ke Bare Mein Puri Jankari

सुकन्या समृद्धि योजना क्या है? सुकन्या समृद्धि योजना में कितने रुपए जमा कर सकते हैं? सुकन्या समृद्धि योजना में खाता कब तक खुलवाया जा सकता है? सुकन्या समृद्धि योजना में कितने खाते खुलवाए जा सकते हैं? सुकन्या समृद्धि योजना के खाते में 1 वर्ष में अधिकतम कितनी राशि जमा की जा सकती हैं? सुकन्या समृद्धि योजना में निवेश का लाभ किसको मिलेगा? आपको सभी प्रश्नों की जानकारी जहां पर मिलेगी इसलिए इस लेख को पूरा पढ़ें और अपने सभी दोस्तों को भी पढ़ने के लिए भेज दें।

सुकन्या समृद्धि योजना:- ऐसी निवेश योजना है जो 10 साल के छोटे बेटियों के लिए हैं। यह निवेश योजना 10 साल से छोटी उम्र की बेटी के लिए है। पोस्ट ऑफिस में खाता खुलवाना पड़ता है। एक बार खाता खुलने के बाद कम से कम 250 रूपये से शुरू कर सकते है। प्रति वर्ष अधिकतम ₹1,50,000 रूपये तक जमा कर सकते हैं। बालिका की 18 वर्ष की आयु पूर्ण होने पर शिक्षा के लिए 50% राशि निकाल सकते हैं और बालिका 21 वर्ष पूर्ण होने पर शादी के लिए पूरे रुपए निकाल सकते हैं। इस योजना का मूल उद्देश्य बेटियों के लिए निवेश करके, उनका भविष्य उज्जवल बनाना है। उज्जवल भविष्य के लिए यह निवेश योजना भारत सरकार द्वारा दी गई है, जो आप पोस्ट ऑफिस से इसका संचालन कर सकते हैं।

Sukanya Samriddhi Yojana FAQ

सुकन्या समृद्धि योजना से संबंधित प्रश्नोत्तर:-

सुकन्या समृद्धि योजना क्या है?

बेटियों के लिए भारत सरकार द्वारा एक निवेश योजना शुरू की गई है, जो 1 वर्ष से लेकर 10 वर्ष की आयु तक बच्चियों के लिए पोस्ट ऑफिस में खाता खुलवा कर उसमें ₹250 जमा करके खाता खुलवा सकते है। इस खाते में अधिकतम ₹150000 रूपये तक सालाना निवेश कर सकते हैं। इस खाते की खास बात यह है कि आप जो भी रुपए निवेश कर रहे हैं वह 20 साल के लिए निवेश योजना है तो आपको 15 साल तक इसमें निवेश करना है। इसका मतलब 15 साल तक आपको रूपये जमा काने होंगे फिर उसके बाद बेटी की 18 वर्ष की आयु पर 50% धनराशि की शिक्षा के लिए निकाल सकते हैं और 21 वर्ष की आयु पूर्ण होने पर शादी के लिए पूरे रुपए निकाल सकते हैं। सुकन्या समृद्धि योजना सरकार द्वारा शुरू की गई सरकारी निवेश योजना है जो सिर्फ बेटियों के लिए।

सुकन्या समृद्धि योजना में कितने रुपए जमा कर सकते हैं?

सुकन्या समृद्धि योजना के खाते को चालू रखने के लिए कम से कम ₹250 से लेकर ₹1,50,000 तक सालाना जमा करना जरूरी होता है और यह राशि आप बच्ची की 1 वर्ष की आयु से निवेश करना शुरू कर सकते हैं। अगर आप 1 वर्ष की आयु की बेटी के लिए खाता खोलते हैं तो आपको हर रोज ₹131 रूपये बचाने पर, उस रुपए को निवेश करके आप बेटी की 21 वर्ष की आयु होने पर बेटी को 20 लाख रुपए मिलेंगे। इसका मतलब आप अगर हर रोज ₹131 निवेश करते हैं तो आपको निवेश का कुल मूल्य ₹20 लाख हो जायेगा।

सुकन्या समृद्धि योजना में खाता कब तक खुलवाया जा सकता है?

बेटी की आयु 1 वर्ष से लेकर 10 वर्ष तक ही खाता खुलवाया जा सकता है। आपकी बेटी की अगर आयु 10 वर्ष या उससे अधिक है तो इसमें खाता नहीं खुलवाया जा सकता। क्योंकि यह है योजना सिर्फ 10 वर्ष से कम आयु की लड़कियों के लिए ही है।

सुकन्या समृद्धि योजना में कितने खाते खुलवाए जा सकते हैं?

सुकन्या समृद्धि योजना में एक बेटी के लिए एक खाता खोला जा सकता है। अगर किसी के जुड़वा बच्चे हैं तो दो खाते खोले जा सकते हैं। अगर किसी व्यक्ति के 2 बेटियां जुड़वा पैदा हुई है और एक और बेटी हुई है तो आप अधिकतम तीन खाते ही खुलवाए जा सकते हैं। वैसे सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत एक बेटी एक खाता योजना है। इसलिए इसमें एक बेटी के लिए एक खाता खोलकर निवेश किया जा सकता है। इसका मतलब एक बेटी के लिए दो खाते नहीं खोले जा सकते। किसी भी बैंक या किसी भी जगह पर आप अपनी बेटी के लिए सिर्फ एक ही खाता खोल सकते हैं और उसमें सुकन्या समृद्धि योजना के लिए निवेश कर सकते हैं।

सुकन्या समृद्धि योजना के खाते में 1 वर्ष में अधिकतम कितनी राशि जमा की जा सकती हैं?

सुकन्या समृद्धि योजना में 1 वर्ष में आप कम से कम ₹250 और अधिकतम ₹150000 तक जमा कर सकते हैं और यह निवेश बेटी की 14 वर्ष की आयु तक कर सकते हैं

सुकन्या समृद्धि योजना में निवेश का लाभ किसको मिलेगा?

सुकन्या समृद्धि योजना में निवेश का लाभ सिर्फ बेटी को ही मिलेगा। सुकन्या समृद्धि योजना में निवेश की गई राशि का उपयोग सिर्फ बेटी के लिए ही किया जा सकता है। इसका मतलब बेटी ही इस खाते का उत्तराधिकार होगी और आपकी बेटी का ही अधिकार होगा। सुकन्या समृद्धि योजना में एक बार खाता खुलवाने पर जो निवेश किया गया है उसमें से 18 वर्ष की आयु पर आधी राशि निकाली जाएगी और 21 वर्ष की आयु पूर्ण होने पर पूरे रुपए सिर्फ बेटी के द्वारा ही बेटी के लिए निकाले जा सकते हैं।

सुकन्या समृद्धि योजना का बैलेंस चेक कैसे करें?

सुकन्या समृद्धि योजना के खाते में कितना बैलेंस है? इसका पता करने के लिए आप ऑनलाइन इंटरनेट बैंकिंग से लॉगिन करके, आप बैलेंस चेक कर सकते हैं। सुकन्या समृद्धि योजना के खाते में कितने रुपए हैं इसका पता आप अकाउंट में बैलेंस बोर्ड पर दिखाई देगा।

सुकन्या समृद्धि योजना में पैसे कब निकाल सकते हैं?

बेटी के 18 वर्ष की आयु होने पर उच्च शिक्षा की प्राप्ति के लिए आप 50% तक रकम निकाल सकते हैं और 21 वर्ष की आयु पूर्ण होने पर शादी के लिए पूरे रुपए निकाल सकते हैं।

सुकन्या समृद्धि योजना में कितने समय तक पैसा जमा करने होते हैं?

सुकन्या समृद्धि योजना का खाता खोलने के दिन से 15 वर्ष तक पैसे जमा करने होते हैं।

सुकन्या समृद्धि योजना खाता कैसे खोलें?

सुकन्या समृद्धि योजना खाता खोलने के लिए नजदीकी बैंक या बैंक की शाखा या डाकघर में जाकर खाता खोल सकते हैं। आप ऑनलाइन नेट बैंकिंग के द्वारा भी सुकन्या समृद्धि योजना का खाता खोल सकते हैं।

सुकन्या समृद्धि योजना खाते पर ब्याज की गणना कैसे होती है?

सुकन्या समृद्धि योजना के तहत जमा की गई राशि पर वर्ष 2015 में 9.1 प्रतिशत ब्याज दर के हिसाब से की जाती थी, जो अब मोदी सरकार द्वारा सुकन्या समृद्धि योजना के तहत मिलने वाले ब्याज दर को घटाकर 7.6% कर दिया गया है। सुकन्या समृद्धि योजना पर मिलने वाले ब्याज दर की गणना सरकार द्वारा निर्धारित की जाती है। मोदी जी ने इस योजना में मिलने वाले लाभ को वर्ष 2021 तक 9.1 प्रतिशत से घटाकर 7.6% ब्याज दर कर दी है। मोदी सरकार ने हर बार ब्याज दर का अवलोकन करके सुकन्या समृद्धि योजना की ब्याज दर को घटाया है, मतलब बेटियों को मिलने वाले लाभ को कम करते जा रहे हैं, जो लाभ देने का वादा प्रचार – प्रसार में जोर सोर से किया गया था वह वर्ष 2021 में 9.1 प्रतिशत से घटाकर 7.6% कर दिया है।

निष्कर्ष:-

आज आपने सुकन्या समृद्धि योजना के बारे में पूरी जानकारी पढ़ी। सुकन्या समृद्धि योजना के बारे में जो हमने जानकारी दी गयी है, आपको कैसी लगी? आप कमेंट बॉक्स में लिखकर हमें बता सकते हैं। अगर आपको सुकन्या समृद्धि योजना के बारे में दी गई जानकारी अच्छी लगी हो तो आप सभी दोस्तों के साथ भी इस ब्लॉग को शेयर कर सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *