SIP | Kya Hai SIP ke Fayde

एसआईपी क्या है? SIP Kya Hai, SIP ke Fayde, SIP का मतलब “व्यवस्थित निवेश योजना” है। एसआईपी को अंग्रेजी में Systematic Investment Plan कहते है। म्यूचुअल फंड के तहत उन निवेशकों के लिए SIP की पेशकश की जाती है जो नियमित रूप से बचत करते हैं। एसआईपी एक बैंक में आवर्ती जमा के समान है जहां निवेशक हर महीने नियमित रूप से छोटी मात्रा में अपना पैसा जमा करता है। हर महीने का मतलब उसकी निवेश योजना के अनुसार है।

एसआईपी के बारे में

  1. एक व्यक्ति एसआईपी में 100 रुपये तक की छोटी राशि का निवेश कर सकता है।
  2. एसआईपी में मासिक और तिमाही आधार पर निवेश किया जा सकता है।
  3. एसआईपी के प्रकार का म्यूच्यूअल फण्ड में निवेश है।
  4. एसआईपी में निवेश व्यस्थित रूप में होती है।
  5. एसआईपी में निवेश लगातार छोटी – छोटी राशि में किया जा सकता है।
  6. एक आम आदमी भी एसआईपी में निवेश कर सकता है।
  7. गरीब व्यक्ति भी एसआईपी में निवेश कर सकता है।
  8. एसआईपी में निवेश करने के लिए किसी बैंक में डीमैट खाता होना जरुरी है।
  9. एसआईपी में निवेश के लिए किसी गारंटर की जरुरत नहीं होती है।
  10. एसआईपी में निवेश करने पर आप अपना नॉमिनी चुन सकते है।
  11. एसआईपी में निवेश एक व्यक्ति (पुरुष या महिला) कर सकते है।

डीमैट खाता क्या है?

एसआईपी के प्रमुख बिंदु

  • सामान्य तौर पर, एसआईपी एक फंडिंग खाते को आकर्षित करता है जो स्वचालित रूप से निकासी करता है क्योंकि वे निवेशकों की प्रतिबद्धता को बढ़ाने के लिए आवश्यक हैं।
  • एसआईपी का सिद्धांत (एसटीपी) वैल्यू कॉस्ट एवरेजिंग पर आधारित है।
  • ज्यादातर शेयर ब्रोकर और म्यूचुअल फंड कंपनियां एसआईपी की पेशकश करती हैं।
  • हम यह भी कह सकते हैं कि, एसआईपी निवेश की एक व्यवस्थित योजना पर आधारित है जो आम तौर पर दैनिक धन राशि की सुरक्षा के अनुसार एक ही प्रकार में होती है।
  • एसआईपी एक निवेश योजना है जिसके तहत निवेशक को नियमित रूप से निवेश की योजना बनानी होती है।
  • SIP में, आपको इस तरह से नियमित रूप से निवेश करने की आवश्यकता है कि यदि आप SIP योजना में अपना पैसा निवेश करना चाहते हैं तो आपको अपने बचत लक्ष्यों तक पहुँचने तक विशेष रूप से नियमित निवेश करना होगा।

एसआईपी की विशेषताएं

  • SIP के तहत, उधार देने – लेने के लिए केवल 12 महीने की अवधि उपलब्ध है।
  • निवेशक को नियमित और निरंतर अवधि के लिए विशेष रूप से एसआईपी में निवेश करना चाहिए।
  • एसआईपी द्वारा अपने निवेशकों को दिए जाने वाले विकल्पों में से एक यह है कि वे स्वचालित रूप से स्विंग मार्केट फॉर्मेट में भाग ले सकते हैं।
  • निवेशकों को हर महीने की एक निश्चित तारीख को एसआईपी में यूनिट खरीदने की अनुमति है।
  • एसआईपी में निवेशक का निवेश वही रहता है, घटते बाजार और बढ़ते बाजार में इकाइयों की संख्या कम होने की स्थिति में इसे विभिन्न प्रकार की इकाइयों में खरीदा जा सकता है।
  • एसआईपी एक नियमित बचत योजना की तरह है, जिसमें प्रति माह या प्रति वर्ष एक निश्चित राशि को बचत के लिए जमा करवाते है ठीक उसी प्रकार निवेशक के लिए म्यूचुअल फंड में नियमित आधार पर एक निश्चित राशि का निवेश करने का एसआईपी सबसे अच्छा अवसर है।

एसआईपी के फायदे

एसआईपी निवेशक के लिए फायदेमंद है क्योंकि यह निवेशक में बचत आदत पैदा करता है।

एसआईपी उन निवेशकों के लिए सबसे अच्छा विकल्प है जो अपनी संपत्ति बनाने के लिए लंबी अवधि के लिए निवेश करना चाहते हैं।

एसआईपी मुख्य रूप से प्रारंभिक अवधि में नियमित रूप से छोटी बचत करने का साधन है जो लम्बी अवधि के बाद बड़ी बचत हो जाती है।

एसआईपी बहुत सुविधाजनक है क्योंकि इसको संचालन करना आसान है।

निवेशक के लिए भरोसेमंद भी है।

एनएसई और बीएसई क्या है?

एसआईपी कैसे काम करता है

विभिन्न निवेश कंपनियां और म्यूचुअल फंड अपने निवेशकों को व्यवस्थित और प्रबंधित निवेश योजनाओं में निवेश करने के लिए कई तरह के विकल्प प्रदान करते हैं। एसआईपी निवेशकों को लंबी अवधि में अपनी छोटी राशि का उपयोग करने का अवसर प्रदान करते हैं जो होल्डिंग से अधिक मूल्य की होती है और एक बार में बड़ी एकमुश्त राशि प्राप्त करती है।

निवेश शुरू करने से पहले SIP के बारे में ये समझना जरूरी है कि एसआईपी कैसे काम करता है। एसआईपी में निवेश ठीक उसी प्रकार कार्य करता है जैसे बैंक में मासिक बचत योजना में होता है।

निवेश राशि आपके बैंक खाते से ऑटो-डेबिट मतलब अपने आप महीने के निश्चित तारीख को कट जाएगी। SIP में जमा हो जाएगी फिर उस राशि के मूल्य के आधार पर म्यूचुअल फंड आपको आवंटित हो जाता है। म्यूच्यूअल फण्ड की संख्या वर्तमान Net Asset Value (NAV) पर निर्भर करती है।

SIP Kya Hai, SIP ke Fayde
SIP Kya Hai, SIP ke Fayde

निष्कर्ष

दोस्तों आज आपने इस लेख में SIP क्या है और कैसे कार्य करता है? SIP में निवेश कैसे होता है? के बारे में जानकारी प्राप्त की और ये जानकारी अच्छी लगी होगी। आगे भी इसी प्रकार की निवेश के बारे में अच्छी – अच्छी जानकारी इस निवेश ब्लॉग में प्रकाशित होती रहेगी ताकि आपको निवेश के बारे में ज्ञान हिंदी में पढ़ने को मिले।

निर्देश – SIP में निवेश अपनी क्षमता और जोखिम लेने की ताकत पर निर्भर करती है क्युकी निवेश का लाभ बाजार पर आधारित है। इसलिए निवेश करने से पहले अनुभवी से सलाह जरूर लें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *