SHG Loan | स्वयं सहायता समूह ऋण कैसे मिलेगा

Self Help Group loan स्वयं सहायता समूह ऋण कैसे लें? स्वयं सहायता समूह लोन कहां मिलेगा? स्वयं सहायता समूह ऋण की जानकारी और स्वयं सहायता समूह लोन कितना मिलेगा? स्वयं सहायता समूह ऋण किसको मिलेगा? स्वयं सहायता समूह ऋण कौन देगा? स्वयं सहायता समूह ऋण लेने के लिए क्या करना पड़ेगा? स्वयं सहायता समूह ऋण क्या है? इत्यादि प्रश्नों के उत्तर इस लेख में मिलने वाले है इसलिए इस स्वयं सहायता समूह ऋण लेख को अच्छी तरह जरूर पढ़ें।

इस लेख में मुख्य रूप से स्वयं सहायता समूह लोन की जानकारी दी गयी है जो इस प्रकार है:-

  • स्वयं सहायता समूह क्या है?
  • स्वयं सहायता समूह ऋण कैसे लें?
  • स्वयं सहायता समूह लोन कहां मिलेगा?
  • स्वयं सहायता समूह ऋण की जानकारी
  • स्वयं सहायता समूह लोन कितना मिलेगा?
  • स्वयं सहायता समूह ऋण किसको मिलेगा?
  • स्वयं सहायता समूह ऋण कौन देगा?
  • स्वयं सहायता समूह ऋण लेने के लिए क्या करना पड़ेगा?

स्वयं सहायता समूह लोन की जानकारी

SHG Full Formस्वयं सहायता समूह (Swayam Sahayata Samuh)
सदस्यों की संख्या15 से 20 लोग (पुरुष या महिला)
पंजीकरण की स्थितिअनिवार्य
ऋण की राशि10 लाख से 20 लाख तक
व्यवसायकिसी भी प्रकार का व्यवसाय

स्वयं सहायता समूह क्या है

एक दूसरे के सहायता के उद्देश्य के लिए 15 या 20 महिला या पुरुषों द्वारा मिलकर एक समूह बनाना, स्वयं सहायता समूह कहलाता है। स्वयं सहायता समूह को अंग्रेजी में Self Help Group कहते है। Self Help Group का short form SHG है इसलिए SHG loan से Google में search किया जाता है। पूर्व और दक्षिण भारत में Self Help Group Loan और उत्तर और पश्चिम राज्यों में स्वयं सहायता समूह ऋण के नाम से search किया जाता है।

इसलिए आज इस लेख में स्वयं सहायता समूह ऋण के बारें में चर्चा की जाएगी ताकि कोई भी स्वयं सहायता समूह बना सके और ऋण के लिए आवेदन कर सके ताकि सब मिलकर अच्छा व्यवसाय कर सके।

Trending News: प्रधान मंत्री में एक सभा को सम्बोधित करते हुए महिला सवयं समूह को बीस लाख ऋण देने और महिला बैठे अपने उत्पाद को सरकारी पोर्टल पर विदेशों में बेचने की सुविधा के बारें में चर्चा की थी।

स्वयं सहायता समूह ऋण कैसे लें

सबसे पहले एक परिवार से एक सदस्य और 15 से 20 परिवार के सदस्य मिलकर, कम से कम 15 से 20 महिलाएं या पुरुष मिलकर एक समूह बनाकर उसका रजिस्ट्रेशन करवाएं। स्वयं सहायता समूह का रजिस्ट्रेशन होता है। स्वयं सहायता समूह में एक भारतीय कानून के अंतर्गत वैध हैं।

स्वयं सहायता समूह लोन कहां मिलेगा

अगर आपके स्वयं सहायता समूह का रजिस्ट्रेशन हो गया है और आपके सभी समूह के सदस्यों के हस्ताक्षर किए हुए वकील द्वारा प्रमाणित पत्र और रजिस्ट्रेशन की कॉपी और बैंक खाते की जानकारी तथा सभी समूह के सदस्यों के परिचय और स्थानीय पत्ते के साथ आप बैंक से लोन बड़ी आसानी से ले सकते है।

दोस्तों! स्वयं सहायता समूह लोन लेने के लिए आपको किसी भी स्थानीय या सरकारी बैंक में आवेदन करने पर तुरंत मिल जाएगा। सभी राज्यों में राज्य सरकारों द्वारा स्वयं सहायता समूह को ऋण की सुविधा उपलब्ध करवाई जाती है। केंद्र सरकार की तरफ से स्वयं सहायता समूह वालों के लिए सरकारी योजनाएं बनाई गई है।

संसार का समूह को ऋण लेने के लिए आप किसी भी बैंक से आवेदन कर सकते हैं। आप सरकारी दफ्तर में जाकर, आप अपने स्वयं सहायता समूह की सहायता और आपके कार्य के बारे में जानकारी देकर वहां से ऋण दिलवाने में सहायता प्राप्त कर सकते हैं। स्वयं सहायता समूह को सरकारी ऋण से ब्याज में छूट मिलने के साथ-साथ अनुदान भी मिलता है। जिससे स्वयं सहायता समूह के सदस्यों को अपने उत्पाद को बनाने की लागत कम करने में सहायता मिलती है ताकि वह अपने उत्पाद को बेचकर मुनाफा कमा सके।

स्वयं सहायता समूह लोन कितना मिलेगा

स्वयं सहायता समूह को पहले 1000000 रूपये ऋण के रूप में दिया जाता था। मगर अब सरकारी योजना के अनुसार स्वयं सहायता समूह को 2000000 रुपए तक ऋण उपलब्ध करवाया जाएगा, ताकि स्वयं सहायता समूह के सदस्यों द्वारा ज्यादा से ज्यादा उत्पादन करके देश के विकास में भागीदार बन सकें।

स्वयं सहायता समूह ऋण किसको मिलेगा

स्वयं सहायता ऋण उनको मिलेगा जो सही तरीके से बाजार के अनुसार बिकने वाले उत्पाद का उत्पादन करने के लिए 15 से 20 व्यक्तियों या महिलाओं द्वारा मिलकर समूह का रजिस्ट्रेशन किया हुआ होना चाहिए।

अगर पहले संसार का समूह के रूप में ऋण लिया गया है तो उस ऋण को भी समय पर भुगतान किया हुआ होना चाहिए।

स्वयं सहायता समूह ऋण कौन देगा

स्वयं सहायता को ऋण, बैंक या सरकार की तरफ से भी दिया जाता है। सरकारी ऋण प्राप्त करने के लिए स्वयं सहायता समूह के सदस्यों को अपने द्वारा किए गए कार्य की प्रोफाइल और बैंक में खोले गए खाते की जानकारी तथा लेनदेन और बचत की जानकारी के बारे में बताना होगा ताकि सरकार आपके कार्यशैली के आधार पर 20 लाख तक ऋण उपलब्ध करवाने में सहायता करती हैं तथा अनुदान भी देती हैं।

स्वयं सहायता समूह, बैंक से भी ऋण ले सकते हैं। जिस प्रकार एक व्यवसाय बैंक से ऋण लेता है ठीक उसी प्रकार स्वयं सहायता समूह के सदस्य भी अपने कार्य के लिए ऋण ले सकते हैं।

स्वयं सहायता समूह ऋण लेने के लिए क्या करना पड़ेगा

स्वयं सहायता समूह ऋण लेने के लिए कई प्रकार के नियमों से गुजरना पड़ेगा जो इस प्रकार हैं:

  • स्वयं सहायता समूह का रजिस्ट्रेशन नंबर,
  • स्वयं सहायता समूह का बैंक में खाता,
  • स्वयं सहायता समूह द्वारा किए गए कार्य के बारे में जानकारी,
  • स्वयं सहायता समूह द्वारा किए जाने वाले कार्य उत्पाद की रूपरेखा,
  • स्वयं सहायता सदस्यों की सहमति प्रमाण पत्र,
  • स्वयं सहायता समूह के सदस्यों के परिचय पत्र और स्थानीय पत्ते की जानकारी,
  • स्वयं सहायता समूह द्वारा किए जाने वाले कार्य या खरीदे जाने वाले उपकरण की लागत,
  • स्वयं सहायता समूह द्वारा उत्पादन किए जाने वाले उत्पाद की बाजार में मांग और होने वाले लाभ की जानकारी,

स्वयं सहायता समूह को भी उसी प्रकार ऋण मिल सकता है जैसे एक व्यवसायी द्वारा छोटे व्यवसाय के लिए ऋण लेना होता है, ठीक उसी प्रक्रिया से इनको भी गुजरना पड़ता है।

निष्कर्ष

इस लेख में स्वयं सहायता समूह के लिए ऋण के बारे पढ़ा। स्वयं सहायता समूह को ऋण लेने की पूर्ण प्रक्रिया के बारे में बताया गया है। आशा करता हु की आपको ये लेख अच्छा लगा हो और अपने दोस्तों को भी हमारे बारे में जरूर बताएं। स्वयं सहायता समूह ऋण लेख को पढ़ने के लिए दिल से धन्यवाद।

FAQ

प्रश्न: स्वयं सहायता समूह का गठन कैसे किया जाता है?

उत्तर – गांव या शहर के किसी मोहल्ले के पुरुष या महिलाओं द्वारा 15 या 20 सदस्यों (एक प्ररिवार से एक सदस्य) मिलकर एक समूह गठन करेंगे। लिखित में सदस्यता ग्रहण की जाएगी और अध्यक्ष का चुनाव करके उसकी अध्यक्षता में बैठक होगी फिर नजदीकी बैंक शाखा में स्वयं सहायता समूह के बैंक खाता खोलना होगा। इस प्रकार से स्वयं सहायता समूह का गठन होगा।

प्रश्न: समूह में कौन कौन सी योजनाएं हैं?

उत्तर – केंद्र और राज्य सरकार की तरफ से स्वयं सहायता समूह के लिए बिना गारंटी के ऋण देने और उनको प्रोत्साहित करने के लिए कई योजनाएं चलाई जा रही है जैसे उज्जवला गृह योजना, सखी (वन स्टाप सेन्टर) और सरकारी पोर्टल पर विदेश में उत्पाद बेचने और ऋण अनुदान आदि।

प्रश्न: समूह की बैठक कैसे की जाती है?

उत्तर – स्वयं सहायता समूह के सदस्यों द्वारा किसी एक सदस्य को अध्यक्ष पद के लिए उमीदवार चुनने के लिए चुनाव होगा और जिसको सबसे ज्यादा सदस्यों की सहमति मिलेगी उसी को स्वयं सहायता समूह का अध्यक्ष घोषित किया जायेगा और अध्यक्ष के घर पर औपचारिक बैठक बुलाई जाएगी। अगर सार्वजनिक स्थल पर बैठक हो रही हो तो बारी-बारी से प्रत्येक सदस्य को अध्यक्षता करने का मौका मिलेगा।

ये बड़े काम के लेख है इनको जरूर पढ़ना चाहिए

BPL Card Par Loan Kaise Le और Loan Account Number kya hota hai? इसके अलावा जरूर पढ़ें की क्या हमें लोन लेना चाहिए?

Leave a Comment

x