Personal Loan or Gold Loan Which is Best in Hindi

कहते हैं जब बहुत मजबूरी हो तो पर्सनल लोन के लिए ही कदम उठाना चाहिए. इसकी एक ही वजह है कि पर्सनल लोन पर सबसे ज्यादा ब्याज लगता है। लेकिन अब गोल्ड लोन बाजार में इसका सबसे अच्छा विकल्प बन गया है। फिलहाल होम लोन पर ब्याज दर पर गोल्ड लोन मिलता है।

Gold Loan
Gold Loan

पर्सनल लोन पर सबसे ज्यादा ब्याज

दरअसल, पैसों की अचानक जरूरत पड़ने पर लोग अक्सर पर्सनल लोन का विकल्प आजमाते हैं। लेकिन पर्सनल लोन लेना इतना आसान भी नहीं है। सबसे पहले तो इसकी ऊंची ब्याज दर लोगों की परेशानी का कारण बनती है। इसके अलावा कई बार सिबिल स्कोर सही न होने पर भी पर्सनल लोन मिलना मुश्किल हो जाता है या कम आमदनी और अन्य कारणों से लोन की पात्रता नहीं होती है।

लेकिन गोल्ड लोन अब पर्सनल लोन की इन सभी समस्याओं को दूर करने की जिम्मेदारी ले रहा है। इसमें ब्याज दर कम तो होती ही है साथ ही यह मिल भी आसानी से उपलब्ध हो जाती है।

कम ब्याज पर गोल्ड लोन

दरअसल, गोल्ड लोन सिक्योर्ड लोन की कैटेगरी में आता है। ऐसे में गोल्ड लोन के लिए सिबिल स्कोर कोई मायने नहीं रखता। साथ ही, यह पर्सनल लोन की तुलना में आसानी से और कम ब्याज पर उपलब्ध है। सबसे पहले बात करते हैं ब्याज दरों की। मौजूदा माहौल में बहुत कम दरों पर गोल्ड लोन मिल रहा है।

ऐसे में यह समझा जा सकता है कि गोल्ड लोन पाना न सिर्फ आसान है, बल्कि पर्सनल लोन से सस्ता भी है। हालांकि, ऐसा नहीं है कि गोल्ड लोन पूरी तरह से लाभदायक है। इसकी कुछ सीमाएँ भी हैं, जिन्हें ग्राहकों को ध्यान में रखने की आवश्यकता है।

आसानी है मिलता है गोल्ड लोन

समय पर गोल्ड लोन का भुगतान न करने की स्थिति में, ऋण देने वाली कंपनी को ग्राहक का सोना बेचने का अधिकार होता है। सोने की कीमतों में गिरावट आने पर बैंक या वित्त कंपनी ग्राहक को अतिरिक्त सोना गिरवी रखने के लिए भी कह सकती है। सोने के गहनों के मूल्य के 90% तक ऋण उपलब्ध होगा। गोल्ड लोन के लिए न्यूनतम 18 कैरेट शुद्ध सोना गिरवी रखना होगा। बैंक या एनबीएफसी गोल्ड बार गिरवी नहीं रखते हैं। वे केवल आभूषण और सोने के सिक्कों पर ऋण देते हैं।

ये जरूर पढ़ें – Personal Loan Kya Hota Hai in Hindi | Personal Loan Kaise Le | Gold Loan Kya Hota Hai in Hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published.