आरबीआई का निर्देश – लोन रिकवरी के लिए लोन एजेंट इस समय नहीं कर सकते फोन कॉल।

अब लोन वसूली के लिए इतने बजे से लेकर इतने बजे तक नहीं कर सकेंगे आपको फोन कॉल।

लोन वसूली के लिए लोन एजेंटों के द्वारा फोन पर धमकियां या परेशान करने की बढाती घटनाओँ को देखते हुए आम जनता को रहत दी है। अब लोन रिकवरी एजेंट किसी भी समय लोन वसूली के लिए फोन कॉल नहीं कर पाएंगे।

आरबीआई लोन खबर

वसूली सम्बंधित बढ़ती शिकायतों के साथ-साथ ऋण वसूली एजेंटों द्वारा अपनाये जाने वाले हथकंडों के करण आम आदमी की परेशानियों को देखते हुए शीर्ष बैंकर-आरबीआई ने शुक्रवार को अपने दायरे में आने वाले सभी वित्तीय संस्थानों से यह सुनिश्चित करने के लिए कहा कि वसूली एजेंट ऋण वसूली के लिए उधारकर्ताओं को परेशान न करें।

आरबीआई ने दिशानिर्देशों के दायरे को बड़ा किया है। किसी कारण से समय पर ऋण का भुगतान नहीं कर पाने पर बकाया ऋणों की वसूली के लिए उधारकर्ताओं को फोन कॉल करने के घंटों को सीमित कर दिया है। आरबीआई ने कहा कि ये निर्देश सभी वाणिज्यिक बैंकों (क्षेत्रीय ग्रामीण बैंकों सहित), सहकारी बैंकों, गैर-बैंकिंग वित्तीय कंपनियों (एनबीएफसी), परिसंपत्ति पुनर्निर्माण कंपनियों (एआरसी) और अखिल भारतीय वित्तीय संस्थानों पर लागू होंगे।

लोन वसूली के लिए कॉल करने का समय भी सुबह 8 बजे से लेकर शाम 7 बजे तक निश्चित किया गया है। यह आदेश आम आदमी के लिए रहत भरा है।

आरबीआई ने कहा, “यह सलाह दी जाती है कि आरई (विनियमित संस्थाएं) सख्ती से सुनिश्चित करें कि वे या उनके एजेंट अपने ऋण वसूली प्रयासों में किसी भी व्यक्ति के खिलाफ किसी भी तरह की धमकी या उत्पीड़न का सहारा नहीं लेते हैं। अधिसूचना।

आरबीआई

आरबीआई का ऋण वसूली एजेंटों को निर्देश कि वे उधारकर्ताओं को सुबह 8 बजे से पहले और शाम 7 बजे के बाद कॉल न करें।।

आरबीआई का ऋण वसूली एजेंटों को निर्देश कि वे उधारकर्ताओं को सुबह 8 बजे से पहले और शाम 7 बजे के बाद कॉल न करें।।
आरबीआई का ऋण वसूली एजेंटों को निर्देश कि वे उधारकर्ताओं को सुबह 8 बजे से पहले और शाम 7 बजे के बाद कॉल न करें।।

आरबीआई का निर्देश – लोन रिकवरी के लिए शाम के 7 बजे के बाद और 8 बजे सुबह तक फोन नहीं करें।

आरबीआई ने शुक्रवार को आम आदमी के लिए एक बड़ा फैसला लिया और रिकवरी एजेंटों को उधारकर्ताओं को डराने-धमकाने के साथ-साथ सुबह 8 बजे से पहले और शाम 7 बजे के बाद फोन नहीं करने के लिए नए निर्देश जारी किए।

बैंकों, एनबीएफसी और एआरसी सहित विनियमित संस्थाओं को अतिरिक्त निर्देश जारी करते हुए, रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने कहा कि उसने देखा है कि वसूली एजेंट ऋण की वसूली के संबंध में अपने निर्देशों का सही से पालन नहीं कर रहे हैं।

आरबीआई ने कहा, “यह सलाह दी जाती है कि आरई (विनियमित संस्थाएं) सख्ती से सुनिश्चित करें कि वे या उनके एजेंट अपने ऋण वसूली प्रयासों में किसी भी व्यक्ति के खिलाफ किसी भी तरह की धमकी या उत्पीड़न का सहारा नहीं लेते हैं।

अधिसूचना

आरबीआई के अनुसार कोई भी बैंक या लोन देने वाली वित्तीय संस्था लोन लेने वाले को लोन वसूली के लिए सुबह 8 बजे से पहले और शाम 7 बजे के बाद किसी भी रूप में लोन वसूली सम्बंधित अनुचित संदेश, धमकी देने या गुमनाम कॉल, बुलाने, या झूठे और भ्रामक साधनों का उपयोग नहीं करने के लिए कहा है।

Leave a Comment