खुदरा ऋण किसे कहते हैं

खुदरा ऋण किसे कहते हैं? खुदरा ऋण को अंग्रेजी में retail loan कहते है। रिटेल का मतलब खुदरा। खुदरा शब्द को छूटकर भी बोल सकते है। वे ऋण जो छोटी – छोट वस्तुओं को खरीदने – बेचने के लिए ऋण दिया जाता है, उसे खुदरा ऋण कहते है।

भारत में खुदरा बाजार बहुत बड़ा है। खुदरा ऋण एक प्रकार के असुरक्षित ऋण की श्रेणी में आता है। खुदरा ऋण को अल्प अवधि के लिए दिया जाता है।

खुदरा ऋण का अर्थ है एक खुदरा विक्रेता द्वारा खरीद या लेनदेन में उपभोक्ता वस्तुओं की खुदरा बिक्री से उत्पन्न होने वाला ऋण।

आइये सबसे पहले समझते है खुदरा ऋण के बारे में, खुदरा ऋण कितने प्रकार के होते है? खुदरा ऋण क्या है? खुदरा ऋण किसे कहते है? खुदरा ऋण कितना मिलता है? खुदरा ऋण किसको दिया जाता है? खुदरा ऋण का ब्याज दर क्या है? खुदरा ऋण कितने समय के लिए दिया जाता है? आदि।

खुदरा ऋण के प्रकार

खुदरा ऋण कितने प्रकार के होते हैं?

मोटे तौर पर, खुदरा बैंक तीन प्रकार हैं। वे वाणिज्यिक बैंक, क्रेडिट यूनियन और कुछ निवेश फंड हैं।

इन तीनो बैंकों द्वारा दिया जाने वाले ऋण भी खुदरा ऋण कहलायेंगे।

खुदरा ऋण का समय

खुदरा ऋण को सिमित समय के लिए दिया जाता है। इसलिए इसे अल्प अवधि का ऋण भी कह सकते है।

खुदरा ऋण कितना मिल सकता है

व्यापार की दैनिक छोटी – छोटी जरूरतों को पूरा करने के लिए खुदरा ऋण दिया जाता है। इस प्रकार के ऋण को व्यक्तिगत ऋण की श्रेणी में भी रखा जा सकता है। खुदरा ऋण लेने की राशि सिमा कोई निश्चित नहीं होती है, क्यों कि खुदरा ऋण व्यापारियों को व्यापार करने के लिए दिया जाता है। खुदरा ऋण की राशि लाखों में हो सकती है।

खुदरा ऋण के ब्याज दर

चुकि कम अवधि के लिए दिया जाने वाला ऋण पर अधिक ब्याज वसूला जाता है। खुदरा ऋण भी इसी श्रेणी में आता है, इसलिए खुदरा ऋण को असुरक्षित ऋण भी कहते है। खुदरा ऋण की ब्याज दर सामान्य ब्याज दर से शुरू होती है।

खुदरा ऋण किसे कहते हैं
खुदरा ऋण किसे कहते हैं

खुदरा ऋण किसको दिया जाता है

जैसा की आपको ज्ञात होगा कि खुदरा बाजार की जरूरतों को पूर्ण करने के लिए कम समय के लिए, लिया जाने वाला है तो इससे हमें पता चलता है कि ये ऋण खुदरा व्यापारियों को दिया जाता है।

निष्कर्ष

दोस्तों। इस ब्लॉग पोस्ट में आपने खुदरा ऋण के बारे में जानकारी प्राप्त की। खुदरा ऋण की जानकारी अच्छी लगी हो तो अपने दोस्तों के भी बताना।

Leave a Comment