Equity or Commodity Kya Hai

भारत में इक्विटी और कमोडिटी में व्यापार को लेकर बहुत ही उत्सुकता है, क्युकि इन दिनों भारतीय निवेश में दिलचस्पी ले रहे है। इस लेख में इक्विटी और कमोडिटी के बारे में विस्तार से जानते है।

इक्विटी क्या है? कमोडिटी क्या है? इक्विटी और कमोडिटी में क्या अंतर है? इक्विटी को हिंदी में क्या कहा जाता है? कमोडिटी में ट्रेडिंग कैसे करें? शेयर मार्केट में इक्विटी क्या है? और इक्विटी और कमोडिटी को हिंदी में क्या कहा जाता है? आदि के बारे में विस्तार से जानकारी प्राप्त करेंगे।

Difference Between Equity and Commodity in Hindi
Difference Between Equity and Commodity in Hindi

इक्विटी

इक्विटी को हिंदी में समान या बराबर कहा जाता है। शेयर बाजार में इक्विटी का मतलब कंपनी में मालिकाना हक या हिस्सेदार। लेखांकन में, इक्विटी को हमेशा उसके बुक वैल्यू में सूचीबद्ध किया जाता है। वित्त के रूप में इक्विटी का मतलब उन परिसंपत्तियों का स्वामित्व है जिनमे ऋण या देनदारी हो सकती है।

कमोडिटी

कमोडिटी को हिंदी में वस्तु कहा जाता है। ऐसी वस्तुएं जो प्रकृति द्वारा बनी होती है, जो मानव द्वारा निर्मित नहीं होती उसे कमोडिटी (Commodity) कहते है। उदाहरण के तौर पर कृषि वस्तुयें और गैर कृषि वस्तुएं। इस प्रकार से कमोडिटी दो प्रकार की होती है।

कमोडिटी के प्रकार

कमोडिटी दो प्रकार निम्न है –

  1. कृषि वस्तुएं – इनको अंग्रेजी में Agricultural Commodities कहा जाता है। ये कृषि उत्पादन वस्तुएं जैसे आलू , प्याज , टमाटर , गेहूँ , चावल , कपास इत्यादि।
  2. गैर कृषि वस्तुएं – इनको अंग्रेजी में Non Agricultural commodity कहा जाता है। ये प्रकृति द्वारा निर्मित वस्तुएं जैसे प्राकृतिक गैस, कच्चा तेल (Crud Oil), सोना, चांदी, जिंक और पत्थर इत्यादि।

इक्विटी और कमोडिटी में अंतर

इक्विटी और कमोडिटी में अंतर इस टेबल से अच्छी तरह से समझ आ जायेगा।

इक्विटी (Equity)कमोडिटी (Commodity)
इक्विटी में हम किसी भी कंपनी का आईपीओ (IPO), कंपनी के शेयर के साथ currency में भी ट्रेडिंग कर सकते हैं।कॉमोडिटी में कृषि और गैर कृषि वस्तुओं में ट्रेडिंग करते हैं।
कंपनियों द्वारा कच्चे माल से तैयार किये गए उत्पाद (Product) की ट्रेडिंग शेयर मार्केट में होती है।कॉमोडिटी में मुख्यतः कच्चा माल (Raw material) ही होते हैं जिसका ट्रेडिंग की जाती है।
Equity का शेयर होल्डर कंपनी का साझेदार, हिस्सेदार या मालिक कहलाता है।Equity के विपरीत कॉमोडिटी ट्रेडिंग जिसकी समय सीमा पहले से ही निर्धारित होती है उसके बाद अनुबंध समाप्त हो जाता है।
Equity में कंपनियों द्वारा अपने निवेशकों को लाभांश (Dividend) दिया जाता है।Commodity में लाभांश (Dividend) दिया जाता है।
इंट्राडे ट्रेडिंग में तरलता (Liquidity) और मार्जिन मनी (Margin Money) भी ज्यादा मिल सकता है।Commodity Trading मे तरलता कम होती है।
Equity trading में एक या दो शेयर खरीद कर कम पैसे से भी trading की जा सकती है।Commodity trading में Lot खरीदने पड़ते है यहां ज्यादा पैसे लगाने पड़ते है।
NSE और BSE Exchange में ट्रेडिंग होती है।MCX और NCDEX Exchange में ट्रेडिंग होती है।
NSE और BSE दोनों सुबह 9 बजे से शाम 3:30 बजे तक खुले रहते है।MCX सुबह 9 बजे से रात 11:55 बजे तक और NCDEX में सुबह 9 बजे से शाम 5 बजे तक कार्य होता है।
Equity में delivery आधारित विभिन्न तरीके से ट्रेडिंग कर सकते हैं जैसे कैश, फ्यूचर और ऑप्शन।Commodity में केवल फ्यूचर और ऑप्शन विधि में ही trading होती है।
Equity में risk की बात करें तो commodity की तुलना मे कम risk होती है।Commodity में केवल फ्यूचर और ऑप्शन में ही trading होती है इसलिए risk अधिक हो सकता है।

कमोडिटी में ट्रेडिंग

कमोडिटी में ट्रेडिंग करने के लिए आपका डीमैट खाता होना चाहिए। अगर डीमैट खाता नहीं है तो खुलवा लें। ज्यादातर कमोडिटी में ट्रेडिंग करने वाले ब्रोकर के द्वारा ट्रेडिंग करते है क्योंकि इससे कमोडिटी में ट्रेडिंग करना आसान हो जाता है।

शेयर मार्केट में इक्विटी

शेयर मार्किट में इक्विटी एक इक्विटी शेयर होता है। इक्विटी शेयर वह होता है जिसमें लाभांश तय नहीं होता है, परन्तु उसे कंपनी का मालिक या हिस्सेदार माना जाता है। उदाहरण से समझें जैसे कंपनी के कुल 100 शेयर है उसमे से निवेशक ने 50 शेयर खरीद लिए है तो वह कंपनी का 50% हिस्से का मालिक या हिस्सेदार है।

इक्विटी और कमोडिटी FAQ

प्रश्न: इक्विटी क्या है?

उत्तर – शेयर मार्किट में कंपनी का मालिक या हिस्सेदार।

प्रश्न: कमोडिटी क्या है?

उत्तर – कमोडिटी एक वस्तु जिसका शेयर मार्किट में ट्रेडिंग की जाती है।

प्रश्न: इक्विटी और कमोडिटी में क्या अंतर है?

उत्तर – इक्विटी में शेयर, आईपीओ और करेंसी में ट्रेडिंग करते है और कमोडिटी में कृषि और गैर कृषि वस्तुओं में।

प्रश्न: इक्विटी को हिंदी में क्या कहा जाता है?

उत्तर – इक्विटी को हिंदी में समान या बराबर और शेयर बाजार में इक्विटी का मतलब कंपनी में मालिकाना हक तथा लेखांकन में, इक्विटी को बुक वैल्यू।

प्रश्न: कमोडिटी में ट्रेडिंग कैसे करें?

उत्तर – कमोडिटी में ट्रेडिंग करने के लिए सबसे पहले बैंक में डीमैट खाता खोलें फिर अपनी पसंदानुसार या कमोडिटी ब्रोकर के द्वारा कमोडिटी में ट्रेडिंग शुरू करें।

प्रश्न: शेयर मार्केट में इक्विटी क्या है?

उत्तर – शेयर मार्किट में इक्विटी एक इक्विटी शेयर होती है जिसका लाभांश तय नहीं होता है।

निष्कर्ष

दोस्तों! इस लेख में इक्विटी और कमोडिटी के बारे में पूर्ण जानकारी देने की पूरी कोशिश की गयी है। आशा करता हु की आपको इक्विटी और कमोडिटी वाला लेख जरूर पसंद आया होगा। इक्विटी और कमोडिटी के बारे में कोई सुझाव या प्रश्न पूछना हो तो आप हमसे पूछ सकते है। इक्विटी और कमोडिटी लेख पसंद आया हो तो इक्विटी और कमोडिटी लेख के बारे में आपके दोस्तों को जरूर बताना। इक्विटी और कमोडिटी के लेख को पढ़ने के लिए दिल से धन्य्वाद।

शेयर बाजार में निवेश से सम्बन्धित लेख पढ़कर ज्ञान में वृद्धि कर सकते है।

भारत में शेयर बाजार क्या है

शेयर बाजार में निवेश कैसे करें?

IPO Kya Hai, आईपीओ खरीदने के फायदे और नुकसान

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *