Batak Palan Loan – बत्तख पालन के लिए लोन कैसे लें

बत्तख पालन के लिए लोन कैसे लें? वास्तव में, बत्तख पालन में जोखिम मुर्गी पालन की तुलना में बहुत कम है और सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि बत्तख के अंडे और मांस दोनों में उच्च प्रोटीन सामग्री होती है। जिससे बाजार में इसकी मांग लगातार बढ़ रही है और यह बेरोजगार लोगों के लिए आय का एक अच्छा स्रोत बन गया है। यहां तक कि कुछ लोग बड़ी संख्या में बत्तखों को पाल कर इसे व्यवसाय के रूप में भी कर रहे हैं। बत्तख कैसे रखें यह जानकारी देने के साथ-साथ यहां आपको बत्तख पालन के लिए ऋण योजना की पूरी जानकारी प्रदान की जा रही है।

आपको ज्ञात होगा कि भारत पूरी दुनिया में एक कृषि प्रधान देश के रूप में जाना जाता है और यहां बड़ी संख्या में लोग कृषि कार्य करते हैं। यहां के लोग कृषि और पशुपालन भी करते हैं। जिनमें से कुछ में गाय, भैंस, बकरी, मुर्गियां और बत्तख शामिल हैं। वर्तमान में लोगों का रुझान मुर्गी पालन की बजाय बत्तख पालन की ओर देखा जा रहा है।

batak palan ke liye loan | बत्तख पालन के लिए लोन कैसे लें
batak palan ke liye loan | बत्तख पालन के लिए लोन कैसे लें

बत्तख पालन के लिए लोन

बत्तख पालन के लिए लोन (loan) लेने के बारे में निचे जानकारी दी गयी है। आप भारतीय स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया से पोल्ट्री लोन ले सकते है।

ब्याज दर10.75% से शुरू
ऋण का प्रकारकृषि अवधि ऋण
ऋण की राशि10 लाख रुपये तक
ऋण चुकाने की अवधि3 से 5 वर्ष
जमानत के रूप मेंअनिवार्य नही
प्रोसेसिंग फीस50 हजार से अधिक पर 0.50 प्रतिशत

पोल्ट्री व्यवसाय को बढ़ावा देने के लिए राज्य और केंद्र सरकारों की तरफ से समय – समय पर नई योजनाएं बनाई जाती है ताकि किसान और मजदूर भाई जो गांव में रहते है, वे खेती या मजदूरी के साथ – साथ बतख का पालन करके अतिरिक्त धन की कमाई कर सकते है।

बत्तख पालन के लिए लोन सब्सिडी

90 प्रतिशत की सब्सिडी दे रही है सरकार बतख पालन का व्यवसाय शुरू करने के लिए।

बत्तख पालन के लिए लोन सब्सिडी – अगर आप बतख पालन करना चाहते है तो आप ले सकते है लोन पर भारी छूट। loan पर ब्याज (interest) और सब्सिडी (subsidy) लेने के लिए आपको निम्न कदम उठाने होंगे।

  • सबसे पहले बतख पालन व्यवसाय की रूपरेखा बनाएं।
  • फिर अपने गृह जिले या शहर के कार्यालय में जाएँ।
  • फिर बतख पालन सरकारी योजना के बारे में प्रशिक्षण लें।
  • फिर बैंक में बतख पालन के लिए लोन फॉर्म भरकर जमा करवाएं।
  • बैंक लोन ऑनलाइन भी लिया जा सकता है।
  • बैंक से लोन लेते समय बतख पालन सरकारी योजना का उल्लेख जरूर करें।

एक बतख पोल्ट्री फार्म खोलने के लिए, सरकार नाबार्ड (नेशनल बैंक फॉर एग्रीकल्चर एंड डेवलपमेंट रूरल) के माध्यम से व्यवसाय ऋण के साथ-साथ सब्सिडी भी प्रदान करती है। इसके अलावा, विभिन्न बैंकों द्वारा ऋण भी प्रदान किया जाता है। इसका विवरण इस प्रकार है-

  • राज्य सरकार बतख पोल्ट्री फार्म के लिए ऋण पर 25 प्रतिशत सब्सिडी प्रदान करती है।
  • सामान्य और ओबीसी वर्ग के अंतर्गत आने वाले लोगों के लिए ऋण पर 25 प्रतिशत तक की सब्सिडी है।
  • एससी और एसटी वर्ग के व्यक्तियों के लिए सब्सिडी राशि 35 प्रतिशत तक निर्धारित की गई है।

बत्तख पालन में प्रजनन

बत्तखों के प्रजनन के लिए तालाब या किसी अन्य स्रोत की व्यवस्था करना आवश्यक है, क्योंकि पानी के बिना वे प्रजनन नहीं करते हैं।

  • प्रत्येक 10 मादा बत्तखों पर एक नर बत्तख होनी चाहिए।
  • एक बत्तख लगभग 5 महीने से 6 महीने की उम्र में प्रजनन के लिए परिपक्व हो जाती है।
  • एक बत्तख के अंडे का वजन लगभग 55-60 ग्राम होता है।
  • आप अंडे सेने के दौरान एक-एक करके अंडों पर पानी छिड़क सकते हैं।
  • अंडे से बच्चे पैदा करने के लिए आप इनक्यूबेटर का इस्तेमाल कर सकते हैं।

बत्तख की प्रजातियाँ

अंडे के उत्पादन हेतु (For Egg Production)

  • भारतीय धावक बतख |
  • व्हाइट और ग्रेनिश भारतीय धावक बतख।
  • खाकी कैंपबेल बतखें |

मांस उत्पादन हेतु (For Meat Production)

  • मसकोवी बतख |
  • आयलेसबरी बत्तख |
  • स्वीडन बतख |
  • रूल कागुआ बतख |

दोहरे उद्देश्य की बत्तखनस्ल (Dual Purpose Duck Breed)

  • खाकी कैंपबेल बत्तख

बत्तखों का पालन कैसे करें

अगर आप बत्तख रखना चाहते हैं तो आपको बता दें कि बत्तख पालन शुरू करने के लिए शांत जगह को बेहतर माना जाता है। इसके साथ ही अगर यह स्थान किसी तालाब के पास हो तो और भी अच्छा है। यदि बत्तख पालन स्थल पर तालाब नहीं है तो आप अपनी आवश्यकता के अनुसार तालाब की खुदाई करवा सकते हैं। यदि आप तालाब नहीं खोदना चाहते हैं, तो आप टिनशेड के चारों ओर दो से तीन फीट गहरा और चौड़ा नाला बना सकते हैं, जिसमें बत्तख तैर सकती हैं और विकसित हो सकती हैं।

यदि आप लगभग 5 हजार बत्तखों के खेत के रूप में बत्तख पालन का व्यवसाय करना चाहते हैं तो इसके लिए आपको 3 हजार 3750 वर्ग फुट जगह की आवश्यकता होगी और बत्तखों की संख्या के आधार पर लगभग 13000 का तालाब होना चाहिए। वर्ग फुट। पैर, जिसमें पानी का एक तालाब है। उचित व्यवस्था करना आवश्यक है।

अन्य लोन लेकर शुरू किये जाने वाले व्यवसाय जो इस प्रकार है

निष्कर्ष

मेरे प्यारे – प्यारे दोस्तों! इस हिंदी ब्लॉग पोस्ट में आपको बतख पालन के लिए मिलने वाले लोन और सब्सिडी के बारे में जानकारी दी गयी है। हमें बहुत ख़ुशी हो रही है कि आप सभी भाईयों – बहनों और सुन्दर – सुन्दर दोस्तों को ये जानकारी बहुत ही अच्छी लगी। बतख पालन के लिए लोन सम्बधित जानकारी को पढ़ने के लिए दिल से धन्यवाद।

Leave a Comment